Pharmacy Fresher 9

Fresher’s party Nadan Parinde

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित जेसीडी कॉलेज ऑफ फार्मेसी में फ्रेशर पार्टी नादान परिंदे का आयोजन। अनुशासन और अभ्यास से ही आत्मविश्वास पैदा होता है: डॉ.शमीम शर्मा।

सिरसा, 21 फरवरी 2022: जेसीडी विद्यापीठ स्थित जेसीडी कॉलेज ऑफ फार्मेसी में सीनियर्स की तरफ से नवांगतुक विद्यार्थियों के लिए फ्रेशर पार्टी का आयोजन कर उनका स्वागत किया गया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ. शमीम शर्मा के द्वारा किया गया जबकि अध्यक्षता फार्मेसी कॉलेज की प्राचार्या डॉ.अनुपमा सेतिया के द्वारा की गई। इस कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि वह कॉलेज के प्राचार्यगण द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित करके की गई।

इस अवसर पर जेसीडी मेमोरियल कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के प्राचार्य डॉ. दिनेश गुप्ता, जेसीडी इंस्टिट्यूट ऑफ़ बिज़नस मैनेजमेंट के प्राचार्य डॉ. कुलदीप सिंह, जेसीडी मेमोरियल कॉलेज की प्राचार्या डॉ. शिखा गोयल, जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार डॉ. सुधांशु गुप्ता व अन्य अधिकारीगण ने सम्मिलित होकर कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। इस अवसर पर डी फार्मेसी, बी फार्मेसी, एम फार्मेसी के विद्यार्थियों ने मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जिसमें गिद्दा, भंगड़ा, हरियाणवी, राजस्थानी व वेस्टर्न डांस प्रस्तुत कर दर्शको की खूब वाह वाह लूटी। इस मौके पर कॉलेज के जूनियर एवं सीनियर विद्यार्थियों ने मिलकर डांस, जादूगरी प्रोग्राम, सोलो डांस, सोलो सॉन्ग, रंगारंग कार्यक्रम पेश किए। इस मौके पर रैंप वॉक प्रतियोगिता भी हुई जिसमें विद्यार्थियों ने रैंप पर भी जलवा बिखेरा।

कार्यक्रम में सर्वप्रथम प्राचार्या डॉ. अनुपमा सेतिया ने सभी विद्यार्थियों के साथ साथ मुख्य अतिथि एवं सभी अतिथिगणों का स्वागत करते हुए कहा प्रत्येक विद्यार्थी अपनी मंजिल की ओर अग्रसर होने के लिए लक्ष्य निर्धारित करें और उसे प्राप्त करने के लिए निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ मेहनत करें।

बतौर मुख्य अतिथि डॉ. शमीम शर्मा ने फ्रेशर पार्टी के टाइटल नादान परिंदे पर कई हास्य हरियाणवी किस्से सुनाए साथ ही अपनी फ्रेशर पार्टी को भी याद किया। नए सत्र में भाग लेने वाले विद्यार्थियों को संदेश दिया व भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। उन्होंने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए विद्यार्थियों को शिक्षा के साथ-साथ अनुशासन में रहने का महत्व भी बताया। उन्होंने लघु कथा वह अनेक महान हस्तियों के अनुभवों को सांझा कर विद्यार्थियों में जोश व उत्साह का संचार किया। उन्होंने कहा कि हमारी हार का एक सबसे बड़ा कारण लोगों की हमारे लिए उपेक्षा बन जाती है क्योंकि वह हमें निरंतर कहते रहते हैं कि यह काम आप नहीं कर सकते तो याद रखिए वह सब सिर्फ एक छलावा है काम तो सिर्फ आप ही के आत्मविश्वास ने करना होता है तो खुद पर विश्वास रखें आप को कोई नहीं रोक सकता आपको सफलता अवश्य प्राप्त होगी। सभी विद्यार्थियों से डॉ. शमीम ने कहा अनुशासन एक प्रकार का गुण होता है जो इंसान को उन्नति के पथ पर लेकर जाता है। अनुशासित व्यक्ति में सही समय पर सही निर्णय लेने की स्वयं की शक्ति होती है। डिप्लोमा के अंकित ने आंखो पर पट्टी बांध कर एल्यूमीनियम फॉयल से बहुत सुंदर साँप बनाकर अपनी कला को प्रस्तुत किया।

निर्णायक मंडल के रूप में डॉ. कंवलजीत व श्रीमती अनीता कंबोज ने भूमिका निभाते हुए प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों में से मिस्टर मिस फ्रेशर वह मिस्टर मिस पर्सनैलिटी चुने गए। डी फार्मेसी से मिस्टर फ्रेशर उज्जवल व मिस फ्रेशर परमजीत व मिस्टर पर्सनैलिटी अंकित को चुना गया। बी फार्मेसी से मिस्टर फ्रेशर शशांत,मिस फ्रेशर अंकू, मिस्टर टैलेंट अंकुश और मृदुल, मिस टैलेंट मनीषा, मिस्टर डैशिंग वंशु, मिस चार्मिंग तनु, मिस्टर पर्सनैलिटी प्रांशु, मिस ईव पायल, बेस्ट परफॉर्मर इंदरप्रीत सिंह और एम फार्मेसी से मिस्टर फ्रेशर रोहित को चुना गया।